गुरुवार, अगस्त 28, 2008

आओ पर्यावरण बचायेँ

मिल करेँ विचार हम सभी राह कौन सी जायेँ .
आओ पर्यावरण बचायेँ आओ पर्यावरण बचायेँ .
रोकेँ तेल रिसाव रहे जल सदा सर्व हितकारी .
दूषित जल से रोज न फैलेँ नई नई बीमारी .
अब न हवा मेँ गैस और पानी मेँ तेल मिलायेँ .
आओ पर्यावरण बचायेँ आओ पर्यावरण बचायेँ .

देश बढेगा आगे यदि हम मिलकर सभी प्रयास करेँ .
ध्यान रहे पर कभी न हम साँसोँ के मोल विकास करेँ .
सासेँ सबको मिलेँ शुद्ध ऐसा माहौल बनायेँ .
आओ पर्यावरण बचायेँ आओ पर्यावरण बचायेँ .

कुदरत के स्रोतोँ से हमको बस समुचित हि लेना है .
इन्हेँ बचाकर आने वाली पीढी को भी देना है .
ताकि हमारे वँशज हमको दोष न देँ गुण गायेँ .
आओ पर्यावरण बचायेँ आओ पर्यावरण बचायेँ .

पर यह सब कैसे होगा सबको जगृत करना होगा .
पर्यावरण सँरक्षण का महत्व जाहिर करना होगा .
अतः साथियो आगे बढकर जनजागरण चलायेँ .
आओ पर्यावरण बचायेँ आओ पर्यावरण बचायेँ .

फ़ैलेगी जागृति लोग समझेँगे सब सीखेँगे .
फिर इसके परिणाम उजागर हो खुद ही दीखेँगे .
विवेक सिँह यह बात एक ही बार बार दुहरायेँ .
आओ पर्यावरण बचायेँ आओ पर्यावरण बचायेँ .

मिल करेँ विचार हम सभी राह कौन सी जायेँ .
आओ पर्यावरण बचायेँ आओ पर्यावरण बचायेँ .

4 टिप्‍पणियां:

मित्रगण