गुरुवार, सितंबर 04, 2008

बचा लो अम्मा

मैं बह रहा हूँ, बचा लो अम्मा
मैँ कह रहा हूँ, बचा लो अम्मा
छूट जाएगी मुझसे ये डाली
मुझको गोदी में उठा लो अम्मा
देखो सँभलो न पैर फिसले कहीं
खुद को खतरे में न डालो अम्मा
मैं हूँ मजबूत मैं न डूबूँगा
खुद को पानी से निकालो अम्मा
अच्छा पानी से तुम न निकलोगी ?
मुझको पानी में बुलालो अम्मा
तुम यूँ पानी में छुप रही हो क़्यूँ
मैं रूँठता हूँ मनालो अम्मा
मैं कह रहा हूँ, बचा लो अम्मा
मैं बह रहा हूँ, बचा लो अम्मा ।

5 टिप्‍पणियां:

मित्रगण