बुधवार, सितंबर 10, 2008

मालिक कुछ टिप्पणी भेज दें !

मालिक कुछ टिप्पणी भेज दें
अच्छी नहीं तो बुरी भेज दें
मेरा उत्साह बर्द्धन होगा
किन्तु आपका खर्च न होगा
एक टिप्पणी बॉक्स खोलकर
आवश्यक ये नहीं तोलकर
उसमें जो जी चाहे भर दें
स्वकर्तव्य की इतिश्री कर दें
चाहें तो उत्साह बढाएं
चाहें लतियाएं धकियाएं
कहें," बहुत अच्छा लिखते हो
पिक्चर में सुन्दर दिखते हो।"
या फिर कहें कि," खोदी घास
नहीं देखने में भी खास
क्यों लिखने में समय खपाते
अन्य कहीं किस्मत अज़माते
तो शायद जीवन कट जाता
लिखा तुम्हारा मुझे न भाता ।"
लिख दें," लेख पसंद आ गया
पढ़ने में आनंद आ गया
इससे मेरा ज्ञान बढ़ा है
पर तुमको अभिमान चढ़ा है
तुम न कभी मुझको टिपियाते
बस हमसे टिप्पणी मँगाते
आगे से अब मैं न लिखूँगा
ब्लॉगिंग पर भी अब न दिखूँगा
तूने मुझे स्वार्थी समझा ?
तुझे देख लूँगा मैं थम जा ।"
धमकी लिख गायब हो जाना
पर सबको पढ़ना रोज़ाना
होगी मान मनौती भारी
चाहे दुनिया डोले सारी
ब्लॉग जगत सब थम जाएगा
बस तेरा कीर्तन गाएगा
रोएंगे सब पछताएंगे
खुलकर तेरा यश गाएंगे
जितनी भी टिप्पणियाँ अब तक
तुमने पहुँचाईं हैं सब तक
वापस सब ही मिल जाएंगी
तेरी बाँछें खिल जाएंगी
सहसा दो दिन गायब रहकर
पब्लिक के भावों में बहकर
तेरा पुनः अवतरण होगा
ब्लॉग जगत पर विचरण होगा
बोलो टिप्पणी मैया की....

24 टिप्‍पणियां:

  1. अरे, मित्र कहे चिंतित होते हो! यह लो।
    कविता उम्दा है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्लॉग जगत पर विचरण होगा
    बोलो टिप्पणी मैया की....
    "jai, ha ha ha ha great style of writing..."

    Regards

    उत्तर देंहटाएं
  3. लो आपकी टिप्पणी मैया की आराधना सफल हुई . अब एक और टिप्पणी मेरे तरफ़ से . टिप्पणी मैया ऐसे ही आपके दामन को टिप्पणियों से भरते रहे .

    उत्तर देंहटाएं
  4. कविता पर टिप्पणी चाहिए
    या फिर टिप्पणियों पर कविता
    जो चाहेंगे मिल जायेगा
    टिप्पणियों की बहेगी सरिता
    एक पोस्ट पर दस या पन्द्रह
    या फिर बीस से कम न लेंगे
    सब इस बात पर आधारित है
    आप हमें कितना दे देंगे
    लिखें पोस्ट बस यही ज़रूरी
    टिप्पणियां मिल के ही रहेंगी
    ब्लागिंग की पूरी पीढ़ी ही
    इसी पाठ को गहा करेंगी
    यहाँ पोस्ट की क्या बिसात है
    जो भी हैं बस टिप्पणियां हैं
    पोस्ट तो बस पूजा ही ठहरी
    टिप्पणियां तो रेवडियाँ हैं
    जो मिल जाए सब अच्छी हैं
    दोनों हाथों भर ले जाएँ
    नई पोस्ट मैं कल लिक्खूंगा
    याद रखें और कल आ जाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  5. इतना अच्छा लिखेंगे तो टिपण्णी तो आयेगी ही. तथास्तु .

    उत्तर देंहटाएं
  6. और यह मेरी तरफ से भी!
    बढ़िया है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. जय .......! काव्यात्मक पोस्ट !

    उत्तर देंहटाएं
  8. एक मेरी भी.. अच्छा है...

    लो और दो

    उत्तर देंहटाएं
  9. एक टिप्पणी तो हमारी और से जमा कर लें :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. हमारे ब्लॉग पर एक स्कीम चल रही है. "एक टिपण्णी दो बदले में दो ले जाओ"....जल्दी कीजिये ऑफर* सीमित समय के लिए.
    * शर्तें लागू .
    :D

    उत्तर देंहटाएं
  11. टिप्पणी पर ही टिप्पणियां मिल गईं

    उत्तर देंहटाएं
  12. हमारी टिप्पणी के बिना यज्ञ पूरा नहीं कहलायेगा, महाराज!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. अभी तो हम भी है आपके पीछे
    आपने टिप्पणी मांगी हमने दी दोनों ने कर्म किया दोनों को उसका फल मिलेगा
    शायद ऐसा ही कुछ कहा गया है गीता में

    आपका वीनस केसरी

    उत्तर देंहटाएं
  14. wah bahut khoob maja aa gaya...bahut alag andaaj hai aapki kalam ka.

    उत्तर देंहटाएं
  15. .






    क्या यह विवेक सिंह का ब्लाग है ?हम्मैं मालिक भेजे हैं, टिप्पणी विप्पणी जईसा कुछ पठाये हैं, ले भाई संभाल अपनी.अमानत..
    टिप्पणीTippaNIटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीTippaNIटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणी टिप्पणीटिप्पणी टिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीTippaNIटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीटिप्पणीTippaNIटिप्पणी
    अब जल्दी से हफ़्ते भर में फ़ी टिप्पणी एक पोस्ट लिख डाल, उसके पहले मत चिल्लाना ..मालिक मुझको फिर आधी रात में दौड़ा देंगे ! तेरे ब्लाग की कसम, इस समय बड़ी नींद आ रही थी..
    तो मिलता हूँ, एक हफ़्ते बाद, अँय ?

    उत्तर देंहटाएं
  16. जो मिला उसे सहेज के रखो। इत्ता बहुत है इस पोस्ट पर!

    उत्तर देंहटाएं
  17. लो भाई एक टिप्पणी हमारी भी |

    उत्तर देंहटाएं

मित्रगण