सोमवार, दिसंबर 29, 2008

चित्र पहेली का जबाब

 पहेली पूछना तो आसान था . बस फ़ोटो लगाया और सवाल पूछ लिया . पर जब लोगों के जवाब देखे तो हमारी एक सदस्यीय निर्णय कमेटी ने दाँतों तले उंगली दबा ली . विजेता का निर्णय करना तो बहुत कठिन हो गया . दर असल कुछ लोगों ने पहेली को सीरियसली लिया ही नहीं और कुछ ने ज्यादा सीरियसली ले लिया .
इस पहेली में हमने पूछा था कि ये महाशय कौन हैं ? और क्या कहना चाहते हैं . अधिकतर प्रतियोगियों ने पहेली के एक ही हिस्से का उत्तर दिया .
सबसे पहले हमारे मित्र कुश का जबाब आया और हिंट माँगने लगे . जब हमने साफ मना कर दिया तो उन्होंने अपनी समझ से ये बताने की कोशिश की कि यह कौन हैं पर क्या कहना चाहते हैं इस पर कुश कुछ न बोले .
मुसाफिर जाट ने शुरुआत कर दी पर जबाब बीच में छोड घूमने निकल गए . मुसाफिर जो हैं .
संजय बेंगाणी जी साफ मुकर गए .
सबसे बडा उलटफेर का शिकार पहेली विशेषज्ञ अल्पना वर्मा जी को होना पडा . भूमिका बनाने में ही उनका टाइम अप हो गया .
सीमा गुप्ता जी भीं हँसी में टाल गईं .
सुनीता शानू जी ने दोनों भागों के जबाब दिए . इनके दूसरे हिस्से को देखिए : " इनके हाथों की स्टाईल और आंखों के एक्सप्रेशन को गौर से देखिये लगता है यह कह रहे हैं...आतंकवाद? छड यार सानु की फ़र्क पैणा हैं असी तो बुलेट प्रुफ़ हैं होर असी ओथे जांदे ही नई जिथे बम होणा होया,फ़ेर जावांगे तो भी मोमबत्ती जलाण वास्ते...:) की कैया असी पहेली जीत गये लो जी तुसी भी बधाई कबूल करो दार जी ...:)"
आप देख सकते हैं इन्होंने स्माइली लगा दी मतलब हँसी में टाला .
हिमांशु जी ने पहेली को मजेदार बताया .
आदरणीय ज्ञानदत्त जी ने पूरी कॉपी एक ही हिस्से का जबाब देने में जाया कर दी . पर बी-कॉपी का कोई प्रोवीजन ही नहीं था .
मोहन वशिष्ठ जी ने दोनों भागों को कवर किया .
रंजन जी ने दर्द को समझा .
हमारे शेखावत जी ज्ञानदत्त जी की नकल मारते लगे :)
रंजना जी ने बडा ही संतुलित जबाब दिया . पर हाथों के स्टाइल से मैच नहीं मिला .
महक जी ने अंग्रजी में अपना आन्सर दिया .
अलग सा जी ने अलग सा ही कुछ कहा .
डी.के. शर्मा जी भी अपना स्टाइल मारकर चलते बने .
पिण्टू जी ने हमें मुना भाई बताया .
धीरू सिंह जी को लगा कि हम उनपर अलीगढी चक्कर चला रहे हैं .
महेन्द्र मिश्रा जी ने भी टाइम पास कर लिया .
चन्द्रमौलेश्वर जी ने पहचाना नहीं . फिर भी बता दिया .
ताऊ जी अपनी ताऊ गीरी में जबाब दे दिए .
प्यासा सजल जी ने पूरी तन्मयता से परीक्षा दी . शायद विकिपीडिया की मदद भी ले आये . दोनों भागों का जबाब भी दिया .
अनुपम अग्रवाल जी निर्णायकों को घूस देने की फिराक में थे :)
प्रदीप मानोरिया जी यहाँ भी कविता लिखने से बाज न आए .
श्रद्धा जी ने आत्मविश्वास की कमी से मौका गँवा दिया .
अरविन्द मिश्रा जी ने भी आखिर में अपनी अटेण्डेंस लगा दी .
अब हम आपको सही जबाब बता दें :
यह मनमोहन सिंह जी हैं . यह कहना चाहते हैं : " क्या बात कर रहे हो यार, मुझे कौन नहीं जानता ?"
पर्फैक्ट जबाब कोई न मिला . आप लोग खुद ही अपने जबाब मिला लें . किसका कितना सही है . कमेटी हार गई आप सब जीत गए . पहेली पूछने से तौबा :)

वैसे रोचकता में सुनीता शानू जी का पलडा भारी रहा .

27 टिप्‍पणियां:

  1. विवेक जी गुड मोर्निंग
    चलो बढ़िया हुआ आपने पहेली पूछने से तौबा कर ली. जैसे मैं घूम फिर कर वही मुसाफिर बन जाता हूँ. ऐसे ही आप भी अपनी पहेलियों को छोड़कर छंद, श्लोक, दोहे रचना में लग जाओ.

    उत्तर देंहटाएं
  2. कमेटी हार गई आप सब जीत गए . पहेली पूछने से तौबा :)
    " हा हा हा हा हा फ़िर तो सभी विजेता हो गये है न??? ..पर जो भी हो रोचक रहा .."

    Regards

    उत्तर देंहटाएं
  3. मैने बहुत कोशिश की जानने की मगर क्या बोल रहे है.. ही नही चला.. क्योंकि मैने कभी इन्हे अपनी ज़ुबान बोलते ही नही देखा..

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह भाई विवेक जी, पहेली भी आप की और जवाब भी, यह तो अन्याय है, बहुत अन्याय :-)

    उत्तर देंहटाएं
  5. कुश ने सही कहा. अब हम क्या बोलें.

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस पहेली की तो हमें खबर ही नहीं लग पाई...
    हमारे पास जनरल नालेज की बहुत सारी किताबे हैं। उन्हें देखकर सही जवाब तो दे ही देते...

    उत्तर देंहटाएं
  7. aare ek hi paheli se tauba kar diye,hum to aur bhi bujhne ke firaak mein thay.vaise asli jawab bahut khub rha,kushji se sehmat

    उत्तर देंहटाएं
  8. अब यहां भी ताऊगिरि दिखानी पडॆगी क्या ?

    आपने एक लाईना स्टाईल मे प्रति टीपणी कर पाठको के आनन्द का इन्तजाम तो कर दिया पर इस पर फ़ुरसतिया जी का कापी राईट है ! परमीशन ले ली थी ना ? :)

    रामराम !

    उत्तर देंहटाएं
  9. यह भी खूब रही!
    चित्त भी मेरी और पट भी मेरी!
    कोई नहीं यह तो होना ही था!
    अच्छा ही हुआ जो पहली ही पहेली आप के लिए भी पहेली बन गयी
    और आप औरों को पहेली बनने से बचाने के लिए पहेलियाँ बनाना छोड़ रहे हैं...
    वैसे बड़ी अजब पहेली की गजब पहेली थी!
    [अब यह न कहिये कि यह क्या पहेली है! ही !ही! ही!]

    उत्तर देंहटाएं
  10. रोचक पहेली थी ..दूसरी का इन्तिज़ार है.

    उत्तर देंहटाएं
  11. वाह्! बहुत खूब
    पहेली पूछने और जवाब देने का आपका ईशटाइल भी घणा धांसू रहा.

    उत्तर देंहटाएं
  12. पहेली तो रोचक थी ही परिणाम घोषित करने का अंदाज भी निराला लगा !

    उत्तर देंहटाएं
  13. क्यों भाई आ गये न लाइन पर !एक ही पहेली में तोबा कर लिए!भाई मै तो सोचा था की चलो मै सक्सेज नही हुआ तो क्या हुआ सायद मेरे मुना भाई यहाँ सक्सेज हो जाए पर ये क्या भाई.....देखो भाई यहाँ जिसकी लाठी उसकी भैंस बाली कहावत चरितार्थ है!मै भी दो-चार दिन पहले कुछ एसा ही सवाल पुछा था पर मै सक्सेज नही हुआ! फ़िर उसी वक्त मुझे वो अपना ताऊ रामपुरिया का प्रोफाइल पर जो लिखा है की उनके पान की दुकान पर एक तख्ती तंगी है जिस पर लिखी है की कोई यहाँ ज्ञान न बांटे यहाँ सब ज्ञानी है "और उस को पढ़ कर जिस अपना ताऊ अपनी ओकाद में आ जाते है! मै भी उनके प्रोफाइल को पढ़ कर अपनी ओकाद में आ गये!

    उत्तर देंहटाएं
  14. are vivek jee hum miss kar gaye aapki paheli warna hamaari he jeet hoti...

    उत्तर देंहटाएं
  15. पहेली का यह अंदाज वाकई लाजवाब है।

    उत्तर देंहटाएं
  16. घणी लिंकिंग है जनता की पोस्ट में। अच्छी चली होगी पोस्ट!

    उत्तर देंहटाएं
  17. आपको तथा आपके पुरे परिवार को नव्रर्ष की मंगलकामनाएँ...साल के आखिरी ग़ज़ल पे आपकी दाद चाहूँगा .....

    अर्श

    उत्तर देंहटाएं
  18. कुछ रहे वही दर्द के काफिले साथ
    कुछ रहा आप सब का स्‍नेह भरा साथ
    पलकें झपकीं तो देखा...
    बिछड़ गया था इक और बरस का साथ...

    नव वर्ष की शुभ कामनाएं..

    उत्तर देंहटाएं
  19. नव वर्ष २००९ आपको मंगलमय हो आपका साहित्य सृजन खूब पल्लिवित हो
    शुभ कामनाएं
    प्रदीप मनोरिया
    09425132060

    उत्तर देंहटाएं
  20. नया साल 2009 आप सभी के लिए
    सुखदायक
    धनवर्धक
    स्‍वास्‍थ्‍वर्धक
    मंगलमय
    और प्रगतिशील हो

    यही हमारी भगवान से प्रार्थना है

    Regard

    उत्तर देंहटाएं
  21. पहेली बूझाने का काम भी बडा दिलचस्प है । आप भी खुश ...बूझने वाला भी प्रसन्न । तुम्हारी भी जय - जय हमारी भी जय जय ना तुम हारे ना हम हारे ...। खैर नव वर्ष की ढेर सारी शुभकामनाएं ।

    उत्तर देंहटाएं
  22. भाई विवेक,
    आपको नए साल की ढेरों बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  23. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  24. sakspreaste [url=http://manatee-boating.org/members/Order-cheap-Cipro-online.aspx]Order cheap Cipro online[/url] [url=http://wiki.openqa.org/display/~buy-cytotec-without-no-prescription-online]Buy Cytotec without no prescription online[/url]

    उत्तर देंहटाएं

मित्रगण