रविवार, जनवरी 11, 2009

बेशर्मी का विश्व-रिकार्ड !

हटना मत चाहे कुछ भी हो जाए गुरुजी ।

बेशर्मी का विश्व रिकार्ड बनाएं गुरुजी ॥

छ: महीने के बाद बने रहकर दिखलाओ ।

गिनीजबुक में नाम दर्ज़ हो जाए गुरुजी ॥

अभी समय है कोशिश करो चुन लिए जाओ ।

शायद कोई चमत्कार हो जाए गुरुजी ॥

जब कुर्सी से प्यार किया तो डरना कैसा ।

इसीलिए तो मेरे मन को भाए गुरुजी ॥

शायद इस दाढी में ही कुछ खोट हुआ हो ।

एकबार दाढी को तो कटवाएं गुरुजी ॥

एक ऑप्शन बचा केन्द्र में मंत्रीपद का ।

अभी समय है उसको भी अजमाएं गुरुजी ॥

आप सरीखा मुख्यमंत्री मिला भाग्य से ।

राज्य आपसे क्यों वंचित हो जाए गुरुजी ॥

हो सकता है आई एस आई की साजिश हो ।

अच्छे लोगों को ही यह हटवाए गुरुजी ॥

जब तक इच्छा करे रहोगे मुख्यमंत्री ।

डटे रहो यदि बलपूर्वक न हटाएं गुरुजी ॥

35 टिप्‍पणियां:

  1. आज कल कवि बनकर जनता का भला करने का विचार अच्छा है!

    ---मेरा पृष्ठ
    तख़लीक़-ए-नज़र

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक ने तो अर्धांगिनी को नवजवाया था,
    तुम भी कुछ जुगाड लगवाओ गुरु जी ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. गुरु जी के बारे बहुत ही सटीक लिखा है !

    उत्तर देंहटाएं
  4. आजकल बेशर्मी तो नेता बनने की प्राथमिक योग्यता है . जिसने की शर्म उसके फूटे करम .

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह वाह..जय हो गुरुजी की. बडा सटीक लिखा आपने.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  6. जब तक इच्छा करे रहोगे मुख्यमंत्री ।

    डटे रहो यदि बलपूर्वक न हटाएं गुरुजी ॥

    बहुत बढ़िया !
    खूब व्यंग्य कसा है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपके गुरूजी तो शिवकुमार मिश्र हैं न!

    उत्तर देंहटाएं
  8. @ ज्ञानदत्त जी, आप काहे हमारे गुरुजी को भडकाते हैं साहब ! हमने यहाँ अपना शब्द का इस्तेमाल नहिन किया है :)

    उत्तर देंहटाएं
  9. कहलाता है गुरूजी, शर्म जरा ना आय
    कत्ल करे, पाए सजा फ़िर मंत्री बन जाय
    फ़िर मंत्री बन जाय, मगर जनता है प्यारी,
    पटका कुर्सी से नीचे और नोची दाढ़ी.

    उत्तर देंहटाएं
  10. गुरु जी की बेकली व्यक्त कर दी आपने.

    उत्तर देंहटाएं
  11. जब कुर्सी से प्यार किया तो डरना कैसा ।

    इसीलिए तो मेरे मन को भाए गुरुजी ॥



    शायद इस दाढी में ही कुछ खोट हुआ हो ।

    एकबार दाढी को तो कटवाएं गुरुजी ॥

    maja aaya. guruji ne to kamal hi kar diya

    उत्तर देंहटाएं
  12. हा हा हा

    बेमिसाल रचना विवेक जी...

    उत्तर देंहटाएं
  13. जब तक डटे रहो जबतक लोग बाहर का रास्ता न दिखा दे
    क्या बात है भाई सटीक व्यग्य और वो भी काव्य के साथ ...धन्यवाद्.

    उत्तर देंहटाएं
  14. देखिये आप इस तरह गुरुजी के पीछे ना पडे . वो अभी अभी पुराने केस से छूटे है इसलिये कुछ नही कह रहे . और रही बात गिन्नीस की तो उसकी लाईन मे मायावती मुलायम अमरसिंह अमिताभ सोनिया बहुत लोग लाईन मे है प्रतियोगिता जारी है . लेकिन इस सब मे अव्वल भारत की जनता ही आयेगी इत्ती बेशरम है कि फ़िर से इन्हे ही चुन लेती है :)

    उत्तर देंहटाएं
  15. अगर नोबेल प्राइज कि बात करें तो हमारे नीतिश भी इसमें है.. उनके चमचे-बेलचे तो यही बता रहे हैं गुरूजी.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  16. वाह्! क्या खूब करारी व्यंग्य रचना पेश की है.

    उत्तर देंहटाएं
  17. बढ़िया व्यंग्य...इनकी दाढ़ी कटवा लो या बाल मुंडवा लो...शर्म तो आएगी नहीं...फिर वहीं खड़े मिलेंगे इलेक्शन कमिशन के दफ्तर में पर्चे भरते...

    उत्तर देंहटाएं
  18. गुरुजी लगता है कविता बांच लिये, चले गये।

    उत्तर देंहटाएं
  19. हा हा, वाह वाह विवेक भाई, क्या तंज़ है यार ग़ज़ब करते हो. पद्य के महारथी बनने में अब देर नहीं. बहुत ख़ुशी हुई आपका लहजा देखकर.

    उत्तर देंहटाएं
  20. आप कहे ना कहे हमने तो मिश्रा जी को आपका गुरु मान लिया है.. अब आप ये क्यो लिखा गया है किसके लिए लिखा गया है.. ये फ़ैसला आप दोनो गुरु चेला मिल बाँट कर कर लो..

    उत्तर देंहटाएं
  21. गुरु शब्द की गरिमा पर ही कालिख पोत दी,
    अपनी सारी तपस्या को खुद ही खा गये,
    जनता ने नकारा, फ़िर भी डटे हैं,
    बेशर्मी की हद हो गई.....
    ....या फ़िर इस पूरे सिस्टम मे ही दोष है?...
    ...सोचने की बात है....उम्मेद साधक

    उत्तर देंहटाएं
  22. " वाह गुरु जी का सारा का सारा biodata है सिर्फ़, नाम वाला coloum खाली क्यूँ है हा हा हा हा ?

    regards

    उत्तर देंहटाएं
  23. Ati sundar...
    ''स्वामी विवेकानंद जयंती'' और ''युवा दिवस'' पर ''युवा'' की तरफ से आप सभी शुभचिंतकों को बधाई. बस यूँ ही लेखनी को धार देकर अपनी रचनाशीलता में अभिवृद्धि करते रहें.

    उत्तर देंहटाएं
  24. Itnee saaree pratikriyaon ke baad mai aur kya likhun, ye badaa kathin prashn hai mere aage...!
    Par itnaa behtareen vyang padhe muddaten ho gayee...!

    उत्तर देंहटाएं
  25. एक ने तो अर्धांगिनी को नवजवाया था,
    तुम भी कुछ जुगाड लगवाओ गुरु जी ।

    Sundar rachana...

    Regards...

    उत्तर देंहटाएं
  26. आपकी पुकार सुन ली गई है ....सुना यही था की वे हट रहे है....ओर लालू को नए भी पसंद नही है....जे हो कुर्सी मय्या की

    उत्तर देंहटाएं
  27. सभी भोंथरे दिख रहे ,चाकू और तलवार |
    इस विवेक के व्यंग की , तीखी बहुत है धार ||
    बहुत सुंदर धनयबाद

    उत्तर देंहटाएं
  28. आपका सहयोग चाहूँगा कि मेरे नये ब्लाग के बारे में आपके मित्र भी जाने,

    ब्लागिंग या अंतरजाल तकनीक से सम्बंधित कोई प्रश्न है अवश्य अवगत करायें
    तकनीक दृष्टा/Tech Prevue

    उत्तर देंहटाएं
  29. बहुत खूब।

    पर देखिए कहीं यह रिकार्ड भी टूट न जाए।

    उत्तर देंहटाएं

मित्रगण