शुक्रवार, अगस्त 07, 2009

मुझको शक है

मुझको शक है, पाँच साल सरकार ये चल जायेगी ।
रौनक वो चुनाव की अब कई साल नहीं आयेगी ॥

मुझको शक है, भारत भृष्टाचार जाल में जकड़ा ।
यद्यपि मैंने रंगे हाथ न कोई अब तक पकड़ा ॥

मुझको शक है, कसाब को फाँसी की सजा बुलेगी ।
किन्तु उसे माफ़ी देने पर यह सरकार तुलेगी ॥

मुझको शक है, अर्थशास्त्री भारत के गृह-मन्त्री हैं ।
भारत में अपहरण फिरौती शायद टैक्स फ़्री हैं ॥

मुझको शक है, यूसुफ़ भारत-रत्न झटक ही लेंगे ।
अच्छे-अच्छे जो न पा सके, किस्मत पर रो लेंगे ॥

मुझको शक है, शायद मैं कुछ उल्टी बात कह गया ।
स्वयं नहीं मालूम मुझे, भावों में कहाँ बह गया ॥

29 टिप्‍पणियां:

  1. मुझे कोई शक नहीं कि सब मालूम है आपको । सारी सच्ची बातें शक सुबहे में कह गये आप । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुन्दर।

    मुझको शक है कि आप उल्टी बातों से सही निशाना कर गए
    और प्रत्यक्षतः चालाकी से भावों में बहने का बहाना कर गए

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  3. happy blogging..

    आशिष के ये शब्द याद आ गये..

    उत्तर देंहटाएं
  4. लो आपने भी चौकिदार बिठा दिया.. अच्छा किया.. जमाना ठीक नहीं है...

    उत्तर देंहटाएं
  5. यार कुछ ज्यादा ही सच बोल गये हो? इस देश मे ज्यादा सच बोलने वाले को अफ़ारा हो जाता है.:)

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  6. मुझको शक है, अर्थशास्त्री भारत के गृह-मन्त्री हैं ।
    भारत में अपहरण फिरौती शायद टैक्स फ़्री हैं ॥
    बहुत बडिया ऐसे भावों मे तो रोज़ बहा कीजिये तकि हमे इतनी अच्छी अच्छी रचनायें पढने को मिलती रहें शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  7. जै हो हरीशचंद्र महाराज जी की!

    उत्तर देंहटाएं
  8. आपको शक क्यों है अरे कुछ चीजें हो रही हैं वो भी ठप्पे से और कुछ होने वाली है और वो लोग भी करेंगे ठप्पे से ...

    हम आप तो केवल शक करते रह जायेंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  9. @ रंजन जी,

    सोचा चौकिदार मुफ़्त में मिल रहा है तो देख ही लें कैसा काम करता है :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. मुझ को शक है कि भाभीजी मायके गई हुई हैं और आप स्वप्न नहीं टूटा है:)

    उत्तर देंहटाएं
  11. आप यकीनन सही बात लिख गए हैं ..शक की कोई गुंजाईश बाकी नहीं रही है

    उत्तर देंहटाएं
  12. मुझको भी शक है कहीं विवेक फिर न रूठ जायेंगे .

    उत्तर देंहटाएं
  13. शक और सच का अन्योन्याश्रित सा सम्बंध है। जटिलता से भरे माहौल में बिना शक के सच सामने नहीं आता।

    अन्दाजे बयाँ के कया कहने !

    उत्तर देंहटाएं
  14. इतना शक करना अच्‍छी बात नहीं !!

    उत्तर देंहटाएं
  15. आप शकवादी हो लिये जी। जानते हैं कि शक की दवा हकीम लुकमान के पास भी नहीं मिलती।

    उत्तर देंहटाएं
  16. कितना शकीयाइयेगा भैया?

    उत्तर देंहटाएं
  17. bahut sundar vivek ji , padhkar ek philosphcal approch ke liye man jaagrut ho gaya ji

    regards

    vijay
    please read my new poem " झील" on www.poemsofvijay.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  18. मुझको शक है, कसाब को फाँसी की सजा बुलेगी ।
    किन्तु उसे माफ़ी देने पर यह सरकार तुलेगी ॥

    यह शक तो लगभग सभी को है

    उत्तर देंहटाएं
  19. एक मर्ज है शक का, जिसकी दवा कहते हैं हकीम लुकमान के पास भी नहीं थी।

    उत्तर देंहटाएं

मित्रगण