बुधवार, मार्च 03, 2010

सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

पाकिस्तान बड़ा नटखट है
सउदी इसको समझा दो ना !
सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

करता यह अपनी मनमानी ।
कभी हमारी बात न मानी ।
मन में इसके बेईमानी ।
इसके मन को साफ करो ना !
सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

गलती पूर्वज किए हमारे ।
जो मध्यस्थ नहीं स्वीकारे ।
हम आये हैं शरण तुम्हारे ।
अब तुम ही मध्यस्थ बनो ना ।
सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

लेकिन जनता को मत कहना ।
पब्लिकली तुम चुप ही रहना ।
ताना पड़ जाएगा सहना ।
इस उलझन से दूर करो ना ।
सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

अमरीका से भी कहलाया ।
उसने दोनों को बहलाया ।
सच में अपना काम चलाया ।
बोला, " बम एकत्र करो ना !"
सउदी ! कृपया हेल्प करो ना ।

हम भी तेल तुम्हीं से लेंगे ।
दाम अन्य से ऊँचे देंगे ।
अहसानों की किस्त भरेंगे ।
पर पहले अहसान करो ना ।
सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

पाकिस्तान बड़ा नटखट है ।
सउदी इसको समझा दो ना ।
सउदी ! कृपया हेल्प करो ना !

10 टिप्‍पणियां:

  1. ई सौदी कौन है ? न मान रहा हो तो कुछ गुझिया हैम्पर भेज कर देखा जाय !

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत शानदार , सामयिक और सटीक !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुबह-सुबह हेल्प लाइन में खड़े हो गये।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूब !! अब अगर सउदी नहीं माना तो कहाँ जायेंगे हमारे रहनुमा ?

    उत्तर देंहटाएं
  5. खुद जो समझेगा वही तो समझायेगा

    उत्तर देंहटाएं
  6. समझौता दुश्मनों से करलो,
    सउदी में बम भी मिलते है ......

    उत्तर देंहटाएं
  7. अरे.. अमरिका भैया नाराज़ हो गये तो?

    उत्तर देंहटाएं
  8. अमरीका हो या सऊदी कोई भी मध्यस्थता बंदर बाट जैसी ही करेगा ना!

    उत्तर देंहटाएं

मित्रगण