गुरुवार, नवंबर 06, 2008

ओबामा की गोटी लाल

अमरीका में गल गयी, ओबामा की दाल ।
व्हाइट हाउस में हुई, इनकी गोटी लाल ।
इनकी गोटी लाल, सँभल कर पाँसे फेंके ।
हाथ खूब बेचारे जॉन मैक्केन पर सेंके ।
विवेक सिंह यों कहें ये अंकल सैम नए हैं ।
पौ बारह हो गई तभी तो तने भए हैं ॥

12 टिप्‍पणियां:

  1. विवेक सिंह बहुत खूब कहे -हम तो बस सुनते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  2. इनकी गोटी लाल, सँभल कर पाँसे फेंके ।
    हाथ खूब बेचारे जॉन मैक्केन पर सेंके ।


    बहुत शानदार भाई विवेक जी ! मजा आगया ! शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  3. हमेशा की तरह बहुत ही बढ़ि‍या।

    उत्तर देंहटाएं
  4. हम आपके है कौन के मामा जी उर्फ अजीत वाच्छणी की स्टाइल में कहेंगे 'भई वाह'

    उत्तर देंहटाएं
  5. क्या बात है विवेक जी बिल्कुल सही है सब बदल जाए पर अंकल saim है. आनंद आ गया. बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  6. कम वक़्त में आपने बहुत अच्छी बात कही।

    उत्तर देंहटाएं
  7. बधाई इस खूबसूरत कविता के लिये शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं

मित्रगण