मंगलवार, सितंबर 14, 2010

हिन्दी-डे का सेलीब्रेशन

आज हिन्दी दिवस है । भाषा के बारे में मेरा व्यक्तिगत विचार है कि सारे संसार के लोग एक ही भाषा बोलें । अभी तक यह संभव नहीं हुआ है इसका यह अर्थ कदापि नहीं कि भविष्य में भी यह संभव न होगा । पर यदि सारे संसार की एक ही भाषा होगी तो वह भाग्यशाली भाषा कौन सी होगी ? 

क्या हिन्दी वह भाषा हो सकती है ? या अंग्रेजी बाजी मार ले जाएगी या फिर किसी ऐसी नई भाषा का आविष्कार होगा  जिसको सीखना  सबके लिए बहुत आसान होगा । हो सकता है ऐसा कोई यन्त्र ईजाद हो जाए जिसे कानों पर लगाकर सामने वाला व्यक्ति चाहे जिस भाषा में बोले लेकिन उसका कहा हुआ हमें अपनी मातृभाषा में ही सुनाई देगा । फिर तो सब झंझट ही मिट जाएंगे ।
यह सब अभी बहुत दूर की बातें हैं । फिलहाल तो हमें अपने भारत को ही एक भाषा-भाषी बनाना है और इसके लिए हिन्दी से ही आशाएं हैं । हिन्दी का विस्तार हो । यह सभी सम्पर्क में आने वाली भाषाओं के शब्दों को ग्रहण करे । यह ऐसी नदी  हो जो जिसमें सभी धारायें आकर मिल जाएं ।

लेकिन अतिशुद्धतावादियों से डर लगता है । जो हिन्दी से अन्य भाषाओं के शब्दों को बीन बीनकर छाँटते रहते हैं जैसे चावल में से कंकड़ बीन रहे हों । हिन्दी को संस्कृत का पर्याय बना देना चाहते हैं ।

वहीं एक वर्ग ऐसा भी है जो हिन्दी के नाम पर अंग्रेजी की टाँग तोड़ता दिखाई पड़ता है । देखिए:

सुनो जरूरी इनफॉर्मेशन
हिन्दी डे का सेलीब्रेशन

आज मनाएंगे ऑफिस में
इनक्ल्यूडेड डिनर है इसमें

आज बॉस का मूड ठीक है
हम सबका यह लकी वीक है

सब कुलीग को आना होगा
एक सोंग भी गाना होगा

होप, आप सब आ जाएंगे
पार्टी में बस छा जाएंगे

झूमेंगे सब डांस करेंगे
मिस न कभी यह चांस करेंगे

समझो इसको गेट-टुगेदर
ऊपर से अच्छा है वेदर

अच्छा, मैं चलती हूँ, बाय !
ओके, टेक केयर, एंजॉय ॥ 

13 टिप्‍पणियां:

  1. हिंदी-दिवस पर सुन्दर प्रस्तुति...हिंदी तो अपनी मातृभाषा है, इसलिए इसका सम्मान करना चाहिए. हिंदी दिवस पर ढेरों बधाइयाँ और प्यार !!
    _____________
    'पाखी की दुनिया' में आपका स्वागत है...

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढ़िया प्रस्तुति ....
    अच्छी पंक्तिया सृजित की है आपने ........
    भाषा का सवाल सत्ता के साथ बदलता है.अंग्रेज़ी के साथ सत्ता की मौजूदगी हमेशा से रही है. उसे सुनाई ही अंग्रेज़ी पड़ती है और सत्ता चलाने के लिए उसे ज़रुरत भी अंग्रेज़ी की ही पड़ती है,
    हिंदी दिवस की शुभ कामनाएं

    एक बार इसे जरुर पढ़े, आपको पसंद आएगा :-
    (प्यारी सीता, मैं यहाँ खुश हूँ, आशा है तू भी ठीक होगी .....)
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_14.html

    उत्तर देंहटाएं
  3. बढ़िया प्रस्तुति ..
    हिंदी दिवस पर हार्दिक बधाई और ढेरों शुभकामनाये....
    जय हिंद जय हिंदी

    उत्तर देंहटाएं
  4. हिंदी का टेंडर तो किसी और के नाम पास हुआ था ना..?? वो कहाँ है ?

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत बढ़िया प्रस्तुति ..
    हिंदी दिवस पर हार्दिक शुभकामनाये....

    उत्तर देंहटाएं
  6. अच्छी रचना है ...
    आपको हिन्दी दिवस मुबारक .....

    उत्तर देंहटाएं
  7. ३६५ दिन हे हिन्दी के लिये, फ़िर एक दिन ही क्यो मनाऊं हिन्दी दिवस के रुप मे???

    उत्तर देंहटाएं
  8. "यदि सारे संसार की एक ही भाषा होगी तो वह भाग्यशाली भाषा कौन सी होगी ? "

    मौन का खाली घर :)

    उत्तर देंहटाएं
  9. गुड पेशकश।

    बेहतरीन कोशिश। बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  10. हिन्दी के प्रचार, प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है. हिन्दी दिवस पर आपका हार्दिक अभिनन्दन एवं साधुवाद!!

    उत्तर देंहटाएं

  11. बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

    आशा है कि अपने सार्थक लेखन से, आप इसी तरह, हिंदी ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

    आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

    उत्तर देंहटाएं
  12. मेनी मेनी हेप्पी रिटर्न ऑफ ड डे!!

    उत्तर देंहटाएं

मित्रगण